Saturday, 30 December 2017

सर्दियों में बगैर घी तेल चीनी का बादामप्राश सात दिन तक खायें फिर देखें चमत्कार

बादाम में सभी अमीनो अम्ल व सभी विटामिन खनिज लवण इतने सतुंलित मात्रा में होते है कि केवल एक बादाम ही यदि चबाचबा कर पानी की तरह पतला करके खाया जाये तो उससे 100 बादाम खाने का लाभ होता है ऐसा हमारे आयुर्वेद का कहना है परन्तु यहा चबाने की शर्त क्यों है ऐसा इसलिये है कि चबाचबाकर पानी की तरह पतला करके खाने से ही बादाम के सभी पोषक तत्व आतों में अवशोषित होते हैं ये बादामप्राश ऐसी ही आयुर्वेदिक विधी से बना हुआ है इसमें बादामों को इतना पीसा जाता है कि उनके सभी पोशक तत्व अवशोषित करने लायक स्थिति में आ जाते हैं उसके बाद इसकी एक चम्मच रोज खाना खाने के बाद खाने से जो चमत्कार दिखती है वो विटामिन की गोलियां ओर महगें पाक भी नहीं दिखा सकेगें, बादामप्राश से सम्पूर्ण नाडीतंत्र और बुद्धि पुष्ट होती है व नेत्रज्योति में चमत्कारिक बढ़ोतरी होती हैं इसके बाद सर्दियो में पाक च्यवनप्राश विटामिन की गोलियां आपको कुछ भी बनाने या खाने की जरूरत नहीं महसूस होगी।
बनाने की सामग्रीः-
2 कप मिठे बादाम की गिरी
1 कप लाल गुड़
कुछ इलायची
बनाने की विधीः-
सबसे पहले मिक्सी के जार में बादाम डाल देंगे, गुड डाल देंगे व इलायची के दाने निकालकर डाल देंगे इलायची का छिलका फैक देगे फिर मिक्सी में पीस लेंगे इसके बाद चम्मच से जार की सामग्री को अच्छी प्रकार से हिलाकर मिक्सी को ठंडा करके दुबारा पीस लेंगे।
इस प्रकार से कई बार-चम्मच से जार की सामग्री को हिलाकर दुबारा पीसेगे मिक्सी को ठंडा करके जार की सामग्री को चम्मच से हिलाकर बार-बार उक्त सामग्री को पुनः पीसना हैं।
इसी प्रकार से रूक-रूककर मिक्सी को ठंडा करके जार की सामग्री को चम्मच से हिलाकर कई बार पीस लेंगे जब तेल छुटने लग जाये और पतला पेस्ट बन जाये तो बादामप्राश तैयार हो गया है।
फिर ठंडा करके सुखा डिब्बा में डाल देंगे सर्दियो में दूध के साथ या बिना दूध के साथ खा सकते हैं। डिब्बे का ढक्कन टाईट बंद करके रखना है।
आप इसको बनाने की पूरी विधी निम्न वीडियो में भी देख सकते हैं।
मेरा यू ट्यूब चैनल
अगला व्यंजन

पारले जी के एक पैकेट से बनायें ढेर सारी चॉकलेट Homemade Chocolate From Parle-G Biscuit

          घर पर पारले जी से बनायें इतनी स्वादिष्ट चॉकलेट  की खाते खाते मन ही नहीं भरेगा चॉकलेट  खाना सभी उम्र के पसन्द करते है क्योंकि...