Friday, 28 July 2017

व्रत में खाने के लिए बनाये श्यामा (मौरेया, भगर, श्यामक या तान्दला के फलाहारी पापड़)

श्यामक के खीचीये जो हम व्रत में भी खा सकते है।
इससे शरीर में ऊर्जा बनी रहती है व्रत के दौरान घर पर बनाये खाद्य पदार्थ का सेवन ज्यादा अच्छा होता है जो कि शुद्व होता है और किसी प्रकार के साईड इफेक्ट भी नहीं करता है।
बनाने की सामग्रीः-
एक प्याला (श्याम) पैकेट वाले
घी/ मुंगफली का तेल/ सुरजमुखी का तेल
एक चम्मच सैधा नमक (पीसा हुआ)
काली मिर्च (आधा चम्मच पीसी हुई)
मीठा सोडा
जीरा
बनाने की विधीः-
सबसे पहले श्यामा को अच्छे से थाली में डालकर साफ कर लेंगे व इसे मिक्सी के जार में पीसकर पाउडर बनायेंगे। फिर एक पतीले में 4 प्याला पानी डालकर पानी गर्म करेगे व गर्म करते समय ढक्कन लगा देंगे व एक प्याला पानी बीच में बाहर निकाल देंगे अब पतीले में तीन प्याला पानी रह गया है व गर्म पानी में घी डाल देंगे।
फिर गैस बन्द कर देंगे व इसके बाद काली मिर्ची,सैधा नमक व जीरा डालकर अच्छे से हिलाएंगे, अब एक पिंच मीठा सोडा डालकर हिलाएंगे फिर पीसा हुआ श्यामा का पाउडर डालकर अच्छे से हिलाएंगे| अब पतीले को फिर से गर्म करेंगे जब बिल्कुल गाढ़ा हो जाए तब एक प्याला पानी जो निकला था वो डालकर चलाएंगे, जब पूरा पानी पी जाये तब गैस बन्द कर देंगे, अब घोल तैयार हो गया। अब एक गीला कपडा लेकर उसका पानी निकाल देंगे व इस कपडे को घोल पर लगा देंगे व ऊपर से ढक्कन लगा देंगे फिर 20 मिनट बाद ढक्कन व कपड़ा हटा देंगे व हल्का सा घी डालकर अच्छे से मिलायेंगे।
फिर एक चकला लेकर उस पर पॉलिथीन लगा देंगे व खीचीये वाले आटे की लोई बना लेंगे व अब लोई के ऊपर एक पॉलिथीन रख देंगे व उल्टे चकले से गोल आकार बना लेंगे हम टिफन के डिब्बे से दबाब देकर खीचीये बना सकते हैं, फिर खीचीयों को सुखा देगे व सूखने के बाद एक कढ़ाई में घी डालकर उसे अच्छे से गर्म करेंगे व तेल गर्म होने के बाद खीचीये डालेंगे व अच्छे से सेकेंगे फिर खीचीयों को एक कागज पर निकाल देंगे अब एक प्लेट में खीचीये डाल देंगे| अब खीचीये तैयार है।
आप इसको बनाने की पूरी विधी निम्न वीडियो में भी देख सकते हैं।
मेरा यूट्यूब चैनल   
अगला व्यंजन

Blog Archive

कम समय में सरलता से वेज बिरयानी या वेज पुलाव बनाये Veg-Pulav Recipe In Hindi

 कम समय में सरलता से वेज बिरयानी या वेज पुलाव बनाये। यह खाने में बहुत ही स्वादिष्ट बनते हैं जिनको हम घर पर आसानी से बनाकर जब मन चाहे तब ...